Wednesday, March 31, 2010

ब्लॉगर्स सावधान--लिव इन रिलेशनशिप--ये किस मोड़ पर ? "चर्चा हिन्दी चिट्ठों की"

पिछले साल एक मशीन बनाई गई थी ब्रह्माण्ड का रहस्य जानने के लिए, उसके बनते ही समाचार आने लगा था कि दुनिया पर खतरा मंडरा रहा है, प्रयोग असफ़ल होने पर दुनिया खत्म हो सकती है। इक बार मशीन खराब हो गयी थी दुबारा शुरु करने में 18 माह लगे। इस बिगबैंग प्रयोग के लिए मंगलवार को प्रोटोन्स का पहला सफ़ल कोलिजन रिकार्ड कर लिया गया। यह साईंस की दुनिया के लिए  एक बड़ी उपलब्धि है। अब मै ललित शर्मा आपको ले चलता हुँ आज के हिन्दी चिट्ठों की चर्चा पर------

बैशाखनंदन सम्मान प्रतियोगिता मे  ताऊजी डॉट कॉम पर  वैशाखनंदन सम्मान प्रतियोगिता में : सुश्री शिखा वार्ष्णेय  प्रिय ब्लागर मित्रगणों, हमें वैशाखनंदन सम्मान प्रतियोगिता के लिये निरंतर बहुत से मित्रों की प्रविष्टियां प्राप्त हो रही हैं. जिनकी भी रचनाएं शामिल की गई हैं उन्हें व्यक्तिगत रूप से सूचित कर -----नर्वस 90 का शिकार धीमी गति से ब्लॉग लेखन करते करते 90 पोस्ट ले दे के लिख पाए हैं क्रिकेट के बेट्समेन की भांति हो गए हैं हम नर्वस नाइंटी के शिकार क्यों मन में उमड़ ही नहीं रहा है किसी भी किसम का विचार विषय अनेक हैं अनेक हैं...

लिव इन रिलेशनशिप--एक गंवई देहाती चिंतन.....!! लिव इन रिलेशनशिप पर बहस चल रही है, इसमें हम भी अपनी देहाती, गंवई सोच के साथ सम्मिलित हो गये हैं अब यह बहस सार्थक है कि व्यर्थ अभी इस पर फ़ैसला समय करेगा। लेकिन फ़िर भी हम गाल बजाए जा रहे हैं। ---हम भी हो गए 420 420 कहलाना किसी को पसंद नहीं है। लेकिन इसका क्या किया जाए कि हर इंसान के जीवन में यह आकंड़ा कभी न कभी दस्तक दे ही देता है। कम से कम उस इंसान के जीवन में तो जरूर 420 का दखल होता है जो इंसान लेखन से जुड़ा ह.

सोनिया गाँधी का य़ू टर्न !!! सोनिया गाँधी राष्ट्रीय सलाहकार परिषद् क़ी अध्यक्ष बन गयी है!नयी बात ये है क़ी चार साल पहले उन्होंने इसी पद को त्याग दिया था और कहा था क़ी वे राजनीती में केवल सेवा करने आई है ,सत्ता सुख लेना उनका उद्देश्..मीना कुमारी --एक खूबसूरत अदाकारा --आज उनकी पुण्य तिथि है --
आज वितीय वर्ष का क्लोजिंग डे है। इत्तेफाक देखिये , आज ही 5० और ६० के दशक की मशहूर अदाकारा ट्रेजिडी क्वीन मरहूम मीना कुमारी जी की भी पुण्यतिथि है।आज का लेख उन्ही की याद में समर्पित है। अभी कुछ दिन पहले फ...
ओम प्रकाश जिंदल : उर्जा सर्जक लौह शिल्‍पी  किसान से सफल उद्योगपति, सुप्रसिद्ध समाजसेवी व कुशल राजनीतिज्ञ के रूप में स्व. ओम प्रकाश जिंदल (7 अगस्त 1930-31 मार्च 2005) ने जीवन की प्रत्येक कसौटी पर खरा उतर कर कमर्योगी-सा जीवन बिताया व कठिन परिश्रम, ...पहली फ़िल्म की रोशनी  आलोक धन्वा की यह छोटी सी कविता अपनी सादगी की वजह से मुझे अतिप्रिय है:जिस रात बांध टूटाऔर शहर में पानी घुसातुमने ख़बर तक नहीं लीजैसे तुम इतनी बड़ी हुई बग़ैर इस शहर केजहाँ तुम्हारी पहली रेल थीपहली फिल्म की रोशनी
समान गोत्र में शादी करने वाले युवा दंपत्ति के अपहरण और हत्या के मामले में 5 लोगों को मौत की सजा
करनाल शहर के सत्र न्यायालय ने कैथल शहर के नजदीक एक गांव में समान गोत्र में शादी कर लेने वाले एक युवा दंपत्ति के अपहरण और हत्या के मामले में पंचायत के 7 लोगों को दोषी करार दिया है। इनमें से 5 लोगों को मौत क...कृपया रास्ता सुझाये ---- शिवकुमार बटालवी, पंजाबी शायरी के शिखर पुरुष  रब्बी गिल के द्वारा गया हुआ गाना सुना था ---- इक कुड़ी जेदा नाम मोहब्बत........बार बार सुना.......इतना सुना कि मेरी कसेट ही ख़राब हो गयी. ये गीत लिखा किसने लिखा था --- शिवकुमार बटालवी, पंजाबी शायरी के शिख...
परदे के पीछे पर्दानशीं है.............माइकल जैक्सन का भूत  हमारे पड़ोस के राज्य क्यूबेक में मुस्लिम औरतों के नकाब पहनने पर पाबन्दी लगा दी गयी है, जो एक अच्छी पहल है, यह हर तरह से अच्छी शुरुआत है, दिनों दिन बुर्के के भी फैशन में इज़ाफा ही हुआ है, बहुत अजीब से बुर्... डॉ. जमालगोटा का करम खोटा... बन गया वो बिन पेंदी का लोटा  अब डॉ. जमालगोटा का करम ही खोटा है तो भला कोई क्या कर सकता है? ये जहाँ भी जाते हैं गाली ही खाते हैं। पर बड़ी मोटी चमड़ी है इनकी, इसीलिये गाली खाकर भी मुस्कुराते हैं। पहले ये हकीमी करते थे किन्तु *"नीम हकीम खत...
लघु कथा- पिछला टायर ! वित्तीय बर्ष की समाप्ति और ३१ मार्च को अधिकाँश बैंको में खाते समापने कार्य के तहत सार्वजनिक लेनदेन न होने की वजह से ३० मार्च को ही वेतन बाँट दिया गया था ! इसलिए सेलरी की रकम हाथ में होने की वजह से हमेशा प... ये किस मोड़ पर ? निशि की सुन्दरता पर मुग्ध होकर ही तो राजीव और उसके घरवालों ने पहली बार में ही हाँ कह दी थी . दोनों की एक भरपूर , खुशहाल गृहस्थी थी . राजीव का अपना व्यवसाय था और निशि को लाड-प्यार करने वाला परिवार मिला. एक ...
ब्लॉगर्स सावधान !!! कुछ भी हो सकता है...खुशदीप बताते हैं कि पुराने ज़माने में हिंदुस्तान में किसी ने चाय का नाम तक नहीं सुना था...ईस्ट इंडिया कंपनी आई...अंग्रेज़ आए...लोगों को सड़कों-चौराहों-नुक्कड़ पर मुफ्त में जग भर भर के चाय पिलाई जाने लगी...खालिस ... प्रिये तुम प्रिये , यह खत नहीं है.यह मेरे हृदय में उठ रहे विचारों का ज्वार है,दिमागी तारों को हिला देनेवाली एक कंपन है,धमनियों में बह रहे रक्त-कणों का आवेग है,एक साथ कई भावनाओं के मिलने से बना एक शब्द है.इसलिये प्रि...
विश्व मंच पर पहचान बना रही हैं भारतीय ललित कलाएं संजय द्विवेदी* देर से ही सही भारतीय ललित कलाएं विश्व की कला दुनिया में अपनी जगह बना रही हैं। शास्त्रीय संगीत और नृत्य से शुरुआत तो हुई पर अब चित्रकला की दुनिया में भी भारत की पहल को स्वागतभाव से देखा जा... लोक आयोग के पाले में मलेरिया विभाग में हुए बहुचर्चित घोटाले की जांच रिपोर्ट  छत्‍तीसगढ़ के बिलासपुर जिले के मलेरिया विभाग में हुए बहुचर्चित घोटाले की जांच रिपोर्ट आखिरकार लोक आयोग के पास पहुंच गई है। इससे दोषी अफसरों के खिलाफ कार्रवाई की संभावना बढ़ गई है।मलेरिया विभाग में हुए घोटाल...
खयालों के परिंदे इस लिए आज़ाद रखता हूँ --जफा की धूप में अब्र-ए-वफ़ा की शाद रखता हूँ इसी तरहा मोहोब्बत का चमन आबाद रखता हूँ छुपा लेता हूँ मै अक्सर तुम्हारी याद के आंसू यही थाती बचा कर अब तुम्हारे बाद रखता हूँ मै अपनी जिंदगी के और ही अंदाज़ रखता हूँ ...-न्यूज चैनल ............. फ़िजूल की बहस !!!-- आजकल "न्यूज चैनल" वाले भी फ़िजूल की बहस को तबज्जो देने में अपनी शान समझने लगे हैं या यूं समझ लें अपनी "टीआरपी" बढाने के चक्कर में फ़िजूल की बहस में उलझे रहते हैं, हुआ ये कि टेनिस खिलाडी "सानिया मिर्जा" और क्...

स्वास्थ्य विभाग की ये कैसी सेवा? *एस. स्वदेश* हाल में कुछ खबरिया चैनलों पर ऐसा ही वाक्या फिर दिखा। नागपुर के सरकारी अस्पताल में पांच दिन का एक मासूम नवजात अस्पतालकर्मियों की लापरवाही से जिंदा जला और मर गया। दुर्गा काडे नाम की महिला ने 1...डेली न्यूज़ एक्टिविस्ट में 'तीसरी आँख' तथा 'राजतंत्र'  31 मार्च 2010 को डेली न्यूज़ एक्टिविस्ट के नियमित स्तंभ 'ब्लॉग राग' में तीसरी आँख तथा राजतंत्र की पोस्ट्स

अब देते हैं चर्चा को विराम आपको ललित शर्मा का राम राम-------------

15 comments:

जी.के. अवधिया said...

सुन्दर और विस्तृत चर्चा!

Suman said...

nice

पी.सी.गोदियाल said...

शर्मा जी , चिंता मत करो अभी तो लिव इन रिलेशनशिप ही चल रहा है , कुछ समय बाद लिव विदाउट रिलेशनशिप का दौर भी आने वाला है !:)

सिद्ध बाबा बालकनाथ त्रिकालज्ञ said...

कल्याणमस्तु वत्स. फ़िक्र मत करो, जल्द ही प्रभु अवतार लेकर सब व्यवस्थित अर देंगे.

'अदा' said...

सुन्दर और विस्तृत चर्चा...!

Ratan Singh Shekhawat said...

सुन्दर और विस्तृत चर्चा...!

मनोज कुमार said...

सुन्दर और विस्तृत चर्चा!

डॉ. मनोज मिश्र said...

विस्तृत चर्चा,आभार.

खुशदीप सहगल said...

चर्चा में अपने प्यार का गुलकंद थोड़ा कम रखा करिए...

भई डायबिटीज न हो जाए...

बेहतरीन लिंक देने के लिए आभार...

जय हिंद...

पं.डी.के.शर्मा"वत्स" said...

बहुत बढिया मनभावन चर्चा!
आभार्!

राज भाटिय़ा said...

अति सुन्दर और विस्तृत चर्चा!!

ताऊ रामपुरिया said...

बहुत सुंदर और नायाब वार्ता.

रामराम.

वन्दना said...

bahut hi sundar aur vistrit charcha.........aabhar.

EJAZ AHMAD IDREESI said...

भैया आपने लिखा तो ब्लोगवाणी ने सर आँखों पे बिठाया... मैंने लिखा तो एक दिन बाद ही सदस्यता ही बर्खास्त कर डाली... वह रे ब्लोगवाणी तू कब बनेगी मीठीवाणी...

मेरा लेख यहाँ पढ़ें
http://laraibhaqbat.blogspot.com/

संजय भास्कर said...

सुन्दर और विस्तृत चर्चा...!

पसंद आया ? तो दबाईये ना !

Followers

जाहिर निवेदन

नमस्कार , अगर आपको लगता है कि आपका चिट्ठा चर्चा में शामिल होने से छूट रहा है तो कृपया अपने चिट्ठे का नाम मुझे मेल कर दीजिये , इस पते पर hindicharcha@googlemail.com . धन्यवाद
हिन्दी ब्लॉग टिप्स के सौजन्य से

ज-जंतरम

www.blogvani.com

म-मंतरम

चिट्ठाजगत