Monday, September 07, 2009

ताऊ की पहली पोस्ट ( चर्चा)

नमस्कार !!!

आज एक नया प्रयोगकोशीश ये होगी की हर सोमवार एक वरिष्ठ ब्लागर की पहली पोस्ट प्रकाशीत करने का

शुरुआत हमारे गुरुदेव ताउजी के पोस्ट से !!
सप्ताह अन्त की गप-शप




Thursday, May 22, 2008



at
11:14 PM


Posted by
ताऊ रामपुरिया




जीवन की आपा-धापी
मे हम इस हद तक डूब चुके हैं की हम अपना अस्तित्व ही भूल चुके हैं. हसना
और खिल्खिलाना तो दूर की बात ..... जागो और देखो तुम स्वयं ही परमात्मा
हो.... आनंद हो....परम सत्य हो..... सिर्फ अपने आपको महसूस करके तो देखो
....... दुखी होना तुम्हारा भ्रम है...... और सूखी होना तुम्हारा स्वभाव
है.... अधिकार है....चिंता मत करो ...... आज रविवार और कल सोमवार की
छुट्टी का आनंद लो.... मंगलवार को फिर वही रामदयाल और वही
गधेडी........कपूर साहेब किसी के शेयर आक्शन करवायेंगे ...... और पंडितजी
किसी को पेआउट करवायेंगे ....... तख्तानीजी किसी को लिमिट देंगे किसी को
नहीं........... और मुद्गल साहेब किसी की ऐसी तैसी करेंगे और कराएँगे
............... जोसेफ साहेब तो अगले हफ्ते भी भिलाई में ही आनंद
लेंगे........ ......... और अब तो माथुर साहेब भी लोगों के बर्तन भांडे
बिकवाने निकल पड़े है.... हम और जायसवाल साहेब ही कम पड रहे थे क्या ? पर
क्या करें कोई समझता ही नहीं...... घोर कॅळयुग का जमाना है.......... ये
आधा बैक ऑफिस पोस्ट है ... पसंद आय तो लिखे .
हाँ तो भाई कपूर साहेब और
पंडितजी थम दोनु ही म्हारे इस ताऊ क्लब के प्राइमरी मेम्बर्स हो... थम
दोनु को तो extra dose चाहिये ही चाहीये .... थमने इस हफ्ते का dose मिल
ग्या होगा अर्र जै कसर रह्गी सै तो यो ले हरियाणवी ताऊ का extra dose.....
हफ्ते भर थम दोनू राजी -वोगे(rawoge).और चोखी तरीया हफ्ते भर काम करते
-वोगे( rawoge) तो सुनो ...................एक बै ताइ रामकोरी बीमार हो
ली अर्र ताऊ कोइ ढंग का डॉक्टर दीख्यानहीं सो ताऊ ताई लेके एक झोल्ला
छाप डॉक्टर धोरे पहुंच लिया और उस डॉक्टर झटके कुछ समझ आया नी सो उसने
ठाके एक इंजेक्शन और उसमें20 मिलि. petroll भर के ताई वो ठोक दिया.. इब
के हुया के ताइ तो उत ते भाज ली.... ताउ गेले लाग् रा पर ताई रुकदी
नए.... तै ताउ चिल्लाया ...... अर्र छोरों जर्रा भाज के थारी ताइ डाटो
वो इंजेक्शन लग्ने के बाद रुक्क ही रही.... इब छोरे ताइ के पाछै लाग
लीये .... अर्र घनी देर बाद ताइ लेके वापस ताउ धोरे आके बोले .... ले
ताउ समभाल इब ताइ .. यो पुरे 30 किलो मीटर दूर जाके डटी ......... ताउ
सोच मे पड़ ग्या अर फेर बोल्या अर भइ बालकों ,,देखो इब थम्हारी ताइ न्यु
बूढ़ी होली .... इसका chasis भी बीखर लिया पर ये average इब बी बहुत सूथरा
देवे से.... जरासा पेट्रोल उस डॉक्टर इसमें डाल्या था भइ...... घन्ना
तगड़ा average थारी ताइ का तो ...................... 20 मिलि. मे 30
किलो मीटर......................

कैसा लगा हमारा प्रयास जरूर बताएं


7 comments:

हिमांशु । Himanshu said...

यह एक अभिनव प्रयास है । उपयोगी । सफलता की यात्रा के प्रारंभिक बिन्दु हैं यह । आभार ।

Fauziya Reyaz said...

achhi koshish...

दिगम्बर नासवा said...

PANKAJ JI (IB YAAD HAI MUJKO) ........
AAPKA PRAYAAS UTTAM HAI ... SAFALTA JAROOR MILEGI ...

Nirmla Kapila said...

bahut baDiyaa prayaas hai badhaaI lage rahiye shubhakaamanaayen

Nirmla Kapila said...

बहुत बडिया लगा आपका ये प्रयास आपको बहुत बहुत बधाई

ताऊ रामपुरिया said...

वाह भाई लाजवाब प्रयास है जी, चलिये इस बहाने हमारी पहली पोस्ट भी हमने पढ ही ली आज.:)

रामराम.

Udan Tashtari said...

अरे, ताऊ की पहली पोस्ट यहाँ और ४०० के उपर वहाँ.

पसंद आया ? तो दबाईये ना !

Followers

जाहिर निवेदन

नमस्कार , अगर आपको लगता है कि आपका चिट्ठा चर्चा में शामिल होने से छूट रहा है तो कृपया अपने चिट्ठे का नाम मुझे मेल कर दीजिये , इस पते पर hindicharcha@googlemail.com . धन्यवाद
हिन्दी ब्लॉग टिप्स के सौजन्य से

Blog Archive

ज-जंतरम

www.blogvani.com

म-मंतरम

चिट्ठाजगत