Tuesday, September 08, 2009

पिंजरे के पंछी रे , तेरा दर्द ना जाने कोय ।( चर्चा )

नमस्कार "चर्चा हिन्दी चिट्ठो की " इस अंक के साथ मै फिर से पंकज ही हूँ यारो .



शुरुआत एक हसीं शायरी के साथ जो की मूल रूप से बबली जीMy Photo की रचना है .
कितना ख़ूबसूरत ये समा है,
बारीश के बूंदों में खो रहा सारा जहान है, कुछ कहना चाहती है ये शायद, तभी तो दिल के करीब ये जहान है !
दूसरी तरफ एक और रचना दीपाली जी की तरफ से !

माफ़ करिए कुछ कापी नहीं होगा क्युकी यहाँ भी आशीष साहब का ताला लगा है .

cartoon-11-sameerji copy[3]

यूँ जवानी लौट के आई...


ताउजी के ब्लॉग पर साप्ताहिक पत्रिका का 38 वां अंक आज प्रकाशित हुआ है . दुःख की बात ये है कि हमारेताउजी का स्वास्थ्य समस्या होने कि वजह से पत्रिका को एक छोटा विराम दिया जा रहा है . लेकिन हमेंआशा है कि पत्रिका पुनः नए रूप में प्रस्तुत होगी .
बाकी स्तम्भ पूर्ववत् रहेगे
ताउजी को शीघ्र स्वास्थय लाभ की कामना .




सतीश जी की पोस्ट पढ़ लीजिये आपको पता चल जाएगा कि सतीश जी My Photoको कब से समय और स्थानलिखने की आदत लगी है .

डा. शास्त्री जी ये रचना कर्ज जो चुकाना है
उधार की जिन्दगी
लौट आई है
फिर से पटरी पर.

आज बहूत दि बाद आदी और लवी ने अपने ब्लॉग पर पोस्ट लिखा हैDSC01462
पिंजरे के पंछी रे , तेरा दर्द ना जाने कोय !
हां ऐसा ही कुछ लिखी है कपिला निर्मला जी वैसे रचना सितम्बर की है लेकिन अच्छा लगा तो लिख दिया आप भी पढिये .

पिंजरे का दर्दMy Photo

युवा सोच युवा ख्याल पर कुलवंत जी का ये रचना.

मौन थी, माँ


आँख मलते हुए


उठा वो बिस्तर से

रोज की तरह

और उठाया

हठों तक लाया

चाय की प्याली को

हैरत में पड़ा,

देख उस अध-खाली को
मौन के खाली घर में से है ओम आर्य जी अपने कविता [Image(150)B2.jpg] सिर्फ तुम पर है

क्लीन चिट की रहस्मय गाथा बता रहे है हमारे महफूज़ अली साहब My Photo

आईये जानें क्लीन चिट (Clean Chit) और क्लीन शीट (Clean Sheet) की रहस्यमय गाथा....?



My Photoहिमांशु जी बृक्ष चर्चा में आज बता रहे है मदार के बारे में . एक पूर्ण लेख उनके ब्लॉग पर

7 comments:

हिमांशु । Himanshu said...

आदी और लवी की प्रविष्टियाँ सदा मन को हर्षित करती हैं । उनकी चर्चा का आभार । वृक्ष-दोहद की प्रविष्टियों की पहली बार कहीं किसी चर्चा मंच पर चर्चा हुई है । हार्दिक आभार ।

आशीष खण्डेलवाल (Ashish Khandelwal) said...

एक और मज़ेदार चर्चा.. हैपी ब्लॉगिंग

ताऊ रामपुरिया said...

बहुत सुंदर चर्चा रही जी.

रामराम.

Nirmla Kapila said...

बहुत बडिया चर्चा बधाई

दिगम्बर नासवा said...

लाजवाब चर्चा है ब्लोगेर्स की ..........

चंदन कुमार झा said...

यह चर्चा भी सुन्दर रही !!!!!!!!!!!!

रंजन said...

बहुत खुब..

पसंद आया ? तो दबाईये ना !

Followers

जाहिर निवेदन

नमस्कार , अगर आपको लगता है कि आपका चिट्ठा चर्चा में शामिल होने से छूट रहा है तो कृपया अपने चिट्ठे का नाम मुझे मेल कर दीजिये , इस पते पर hindicharcha@googlemail.com . धन्यवाद
हिन्दी ब्लॉग टिप्स के सौजन्य से

Blog Archive

ज-जंतरम

www.blogvani.com

म-मंतरम

चिट्ठाजगत